search
होम    खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता के लिए उत्कृष्टता के अंतर्राष्‍ट्रीय केन्द्र
खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता के लिए उत्कृष्टता के अंतर्राष्‍ट्रीय केन्द्र

         

वैश्वीकरण और वैश्विक खाद्य व्यापार के वर्तमान युग में, यह खाद्य सुरक्षा एवं गुणवत्ता के वर्तमान मुद्दों का समाधान करने के लिए और हमारे कृषि उपज और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के लिए सक्षम और सुविधाजनक बनाने के लिए आवश्यक है। इस संबंध में निफ्टेम खाद्य सुरक्षा और गुणवत्ता में उत्कृष्टता का एक अंतरराष्ट्रीय केंद्र की स्थापना की प्रक्रिया में है।


उत्कृष्टता केंद्र के उद्देश्य

  1. खाद्य उद्योग को समाधान मुहैया कराने के लिए परियोजनाएं हाथ में लेना
  2. केंद्र खाद्य उद्योग के समक्ष उनकी निम्नेलिखित आवश्यकताओं के संबंध में सामने आ रही समस्याओं के समाधान मुहैया कराने के लिए परियोजनाएं हाथ में लेगा:-

    • नई प्रक्रियाओं और मौजूदा उत्पादों / प्रक्रियाओं में उत्पादों और सुधार / संशोधन के विकास के लिए विश्लेषणात्मक अध्ययन करता है।
    • शेल्फ जीवन (सामग्री के उपयोग की अवधि) और उत्पादों की मौजूदा शेल्फ जीवन को बढ़ाने के लिए अध्ययन ।
    • खाद्य दुर्ग और दृढ़ खाद्य पदार्थों के भंडारण / स्थिरता के लिए अध्ययन।
    • न्यूयट्रास्टिकल्सर और क्रियाशील खाद्यों के विकास के लिए अध्ययन।
    • नई विश्लेषणात्मक पद्धति के विकास और सत्यापन के लिए अध्ययन।
    • नई पैकेजिंग सामग्री के विकास और चरित्र चित्रण के लिए अध्ययन और खाद्य पैकेजिंग और अनुकूलता का अध्ययन करना।
  3. कौशल उन्नयन के लिए आचार प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करना
    • विश्लेषणात्मक केंद्र विभिन्न खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों के पेशेवरों, खाद्य विनियामकों और भारत और विदेश दोनों के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के लिए विभिन्नि विश्लेषणात्मक तकनीकों के इस्तेमाल पर प्रशिक्षण कार्यक्रम (सैद्धांतिक के साथ साथ व्यावहारिक प्रशिक्षण) भी आयोजित करेगा।
  4. कोडेक्स के लिए केंद्र और एफएसएसएआई के लिए सहायता केंद्र के रूप में काम करना
    • उत्कृष्टता के केंद्र भी खाद्य मानकों के अनुरूप के लिए और एमआरएल मूल्‍यों की स्थापना के लिए कोडेक्स गतिविधियों के रूप में भी काम करेगा।
    • केंद्र विनियामक और नीतिगत अनुसंधान के लिए एफएसएसएआई को भी सुगम बनाएगा।
  5. उद्योग को खाद्य की गुणवत्ता और संरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अत्याधुनिक खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला मुहैया कराकर उद्योग की सेवा करना
    • सभी प्रकार के खाद्य उत्पादों के भौतिक, रासायनिक और सूक्ष्म जैव विश्लेषण के लिए एक अत्याधुनिक, प्रत्यातयिक खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला अंतरराष्ट्रीय खाद्य संरक्षा एवं गुणवत्ता केंद्र का भाग होगा। यह प्रयोगशाला भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के दिशानिर्देशों के अनुसार एक संदर्भ प्रयोगशाला के लिए अपेक्षित सभी शर्तों को पूरा करेगी।
    • संस्थान ने खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए आईसीएआर से वित्तपोषण की मांग करेगा। आईसीएआर ने शर्तों और निबंधनों के अध्यणधीन 852.39 लाख रुपए की अनुदान सहायता के लिए सैद्धांतिक अनुमोदन प्रदान कर दिया है।
    • उपकरण, कांच के बने पदार्थ, रसायन, फर्नीचर और अन्य आवश्यकताओं की खरीद की प्रक्रिया प्रगति पर है। इस बीच आंतरिक डिजाइन और नामित प्रयोगशाला अंतरिक्ष के अंदर सिविल काम के तरीके के तहत भी है। खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला सितंबर, 2014 और खाद्य सुरक्षा के लिए उत्कृष्टता के केंद्र के अंत तक चालू होने की और गुणवत्ता फरवरी, 2015 तक चालू होने की उम्मीद है
  6. 2013-2014 के दौरान उत्कृष्टता के इंटरनेशनल सेंटर के बैनर तले आयोजित की घटनाओं
  7. वर्ष 2013-14 के दौरान, निम्नलिखित सम्मेलन, प्रशिक्षण कार्यक्रम और कार्यशालाओं आईसीईएफएसक्यूण के बैनर तले आयोजित की गई।

    • निफ्टेम परिसर, कुंडली, सोनीपत में 9-11 जनवरी, 2014 के दौरान ‘‘उभरते खाद्य सुरक्षा जोखिम : विकासशील देशों के लिए चुनौतियां और खाद्य सुरक्षा और गुणवत्तास पर कार्यशाला’’ पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन।
    • एक अर्ध दिवसीय की कार्यशाला के पश्चात एक दिवसीय खाद्य संरक्षा सेमीनार “खाद्य श्रृंखला में खाद्य सुरक्षा जोखिम का शमन”। इसका आयोजन प्रगति मैदान में 12-13 मार्च, 2014 को ‘‘आहार’’ के दौरान निफ्टेम-सीआईआई फेसी द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।
    • इंडो-अफ्रीका फोरम सम्मिट की छत्रछाया में आयोजित “एकीकृत खाद्य प्रबंधन: खेत से खाने की मेज तक” विषय पर अफ्रीकी राष्ट्रों के लिए पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम।